प्राकृतिक आइसक्रीम कथाकार रघुनंदन कामत - SHUBHNEWS
07/10/2022

SHUBHNEWS

NEWS JO SHUBH HO

Natural Ice Cream Storyman RaghunandanKamat

Natural Ice Cream Storyman RaghunandanKamat

प्राकृतिक आइसक्रीम कथाकार रघुनंदन कामत

Spread the love

Natural Ice Cream Storyman RaghunandanKamat- नेचुरल आइसक्रीम के कामत की कहानी -पिता बेचते थे फल, बेटे ने बना दिया 300 करोड़ का फर्म, श्रीनिवास कामत  परिवार का भरणपोषण होता था। कामत 7 भाई-बहन थे और महीने की आमदनी सिर्फ 100 रुपये थी, इसमें मुश्किल से परिवार का भरण पोषण होता था।  कर्नाटक के पुत्तुर तालुका में मुलकी गांव से ताल्लुक रखने वाले रघुनंदन का बचपन काफी गरीबी में बीता। उनके पिता फल बेचते थे जिस वजह से कामत को फलों का स्वाद बचपन से ही आकर्षित करता था। गरीबी की मार झेल चुके कामत के भाई मुंबई में गोकुल नाम से फूड इटरी चलाते थे। रघुनंद थोड़े बड़े हुए तो साल 1966 में वह भी भाइयों के पास कामकाज करने मुंबई पहुंच गए।

1983 में कामत की शादी हुई और इसके बाद उन्होंने आइसक्रीम का बिजनेस शुरू करने का फैसला किया। आइसक्रीम तब एक क्लासी आइटम थी और बाजार में पहले से ही स्थापित ब्रांड भी थे। रघु कामत ने जोखिम उठाकर सिर्फ आइसक्रीम का ही काम करने का फैसला किया।

14 फरवरी 1984 को कामत ने मुंबई में Naturals Ice Cream Mumbai नाम से पहला आउटलेट शुरू किया।
नेचुरल तरीके से तैयार आइसक्रीम आज भी कामत की कंपनी की यूएसपी है। फलों से शुरू में सिर्फ 5 फ्लेवर की आइसक्रीम लॉन्च की गई थी।
ग्राहकों से मिली सलाह के बाद रघुनंदन कामत ने आइसक्रीम फ्लेवर को एक्सप्लोर किया और कटहल, कच्चा नारियल और काला जामुन को भी जोड़ लिया। इस तरह अब कामत 8 फ्लेवर की आइसक्रीम बनाने लगे। इन फलों की प्रोसेसिंग उस समय काफी मुश्किल थी, लेकिन रघुनंदन चुनौतियों से ज्यादा अपनी सफलता को लेकर फोकस कर रहे थे।

Natural Ice Cream Storyman RaghunandanKamat